120 सीटें मिलती हुई नजर आ रही हैं- गुजरात चुनाव का आंतरिक सर्वे # Top News; www.himalayauk.org (Leading Digital Newsportal) 
कांग्रेस वाइस प्रेसिडेंट राहुल गाँधी ने सोमवार को नॉर्थ गुजरात के पाटन में दलितों के प्रमुख वीर मेघ माया मंदिर में पूजा-अर्चना की। वीर मेघ माया को दलित समुदाय का माना जाता है। इससे इससे पहले राहुल गांधी रानी की वाव देखने पहुंचे और दलित समाज के लोगों से मिले। तीन दिन के राज्य के दौरे पर आए राहुल गांधी प्रचार के साथ-साथ मंदिरों में दर्शन कर रहे हैं। इसकी शुरुआत उन्होंने अक्षरधाम मंदिर से की थी। यह मंदिर स्वामी नारायण पंथ का है और पटेल कम्युनिटी में इसके कई अनुयायी हैं। सोमवार को राहुल शंखेश्वर, बहुचराज मंदिर भी जाएंगे। इससे पहले उन्होंने रविवार को केंद्र और राज्य सरकार पर निशाना साधते हुए कहा था कि गुजरात सरकार देश में सबसे करप्ट है।
राहुल ने दलित समाज के प्रोग्राम में कहा कि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) मनुवादी संगठन है, जो देश के जातिवादी सिस्टम को जैसा है वैसा ही बनाए रखना चाहता है। अपनी नवसर्जन गुजरात यात्रा के तीसरे और आखिरी दिन उन्होंने कहा कि वे जातिवाद के विरोधी हैं, क्योंकि यह ऐसी व्यवस्था है जो इंसान को इंसान नहीं मानती। उन्होंने कहा कि वे दलितों से संबंधित मुद्दों को पार्टी के मेनिफेस्टो में शामिल करेंगे।
महा माया मंदिर में दर्शन से पहले राहुल वक्त निकाल कर यहां ऐतिहासिक रानी की वाव (बावड़ी) देखने पहुंचे। इस वाव के बारे में माना जाता है कि इसे चालुक्य वंश के शासक भीमदेव की याद में उनकी रानी उदयमती ने 11वीं सदी में महा गुर्जर स्थापत्य शैली में बनवाया था। सरस्वती नदी के किनारे स्थित इस वाव में सीढ़ियों के 7 लेवल थे। यह नदी में बाढ़ के चलते मिट्टी के नीचे दब गया था और 80 के दशक में खुदाई के दौरान इसका पता चला।

मैं शिव जी का भक्त हूं
राहुल गांधी ने कहा कि मैं शिव जी का भक्त हूं. बीजेपी मेरे मंदिर जाने से डरी हुई है. वहीं कांग्रेस के भरत सिंह सोलंकी ने कहा कि बीजेपी के नेताओं का दिमाग खराब हो गया है क्योंकि मंदिर में जाने के लिए ना तो कोई समय होना चाहिए ना कोई बात होनी चाहिए. मंदिर माता जी की आस्था का प्रतीक है. उन्होंने कहा कि जब भी टाइम मिले, राहुल गांधी सभी धार्मिक जगह जाते हैं ऐसी कोई जगह नहीं है जहां वह नहीं जाते. आपने तो राम मंदिर बनाया नहीं, लोगों को इतने सारे झूठ बोलकर वोट ले लिए और अपनी सरकार बना ली. उन्होंने कहा कि BJP ने भ्रष्टाचार किया और लोगों को उल्लू बनाया. बीजेपी पर निशाना साधते हुए उन्होंने यह भी कहा कि बीजेपी के मुख्यमंत्री तो अमित शाह के रिमोट कंट्रोल पर चलते हैं. राहुल गांधी मंदिर में जाकर गुजरात की जनता का विकास और देश की जनता की खुशी के लिए पूजा करते हैं. जहां तक मुख्यमंत्री के चेहरे का सवाल है, तो परंपरा रही है कांग्रेस चुनाव होने के बाद कांग्रेस के विधायक और आलाकमान तय करते हैं कि मुख्यमंत्री कौन होगा.
राहुल गांधी गांधीनगर के अक्षरधाम मंदिर गए. यहां उन्होंने पहले तिलक लगाकर पूजा अर्चना की. इस दौरान उनके साथ कांग्रेस के वरिष्ठ नेता भी मौजूद रहे.

120 सीटें मिलती हुई नजर आ रही हैं- गुजरात चुनाव का आंतरिक सर्वे
गुजरात चुनाव की तारीखें नजदीक हैं. कांग्रेस और बीजेपी में राजनीतिक वार-पलटवार तेज हो रहा है. इसी बीच कांग्रेस की ओर से गुजरात चुनाव का आंतरिक सर्वे करवाया गया है जिसमें उन्हें 120 सीटें मिलती हुई नजर आ रही हैं. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को उनके गृह राज्य में घेरने के एजेंडे पर आगे बढ़ते हुए कांग्रेस नेताओं ने दिल्ली में सोनिया गांधी के आवास 10 जनपथ पर बैठक की. इस हाई प्रोफाइल बैठक में कांग्रेस गुजरात में भाजपा के किले को ढहाने के लिए अपने योद्धाओं का चयन की शुरुआत की है. हालांकि इसका ऐलान 15 तारीख को होगा. गुजरात कांग्रेस के अध्यक्ष भरतसिंह सोलंकी ने कहा कि हमारा सर्वे गुजरात में चल रहे अंडर करंट को भापने में सफल रहा है उनके मुताबिक पार्टी के अपने इंटरनल सर्वे में कांग्रेस BJP को मात देते हुए 120 सीट जीतती हुई नजर आ रही है.

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी सोमवार को गुजरात के महेसाणा पहुंचे और दौरान लोगों को संबोधति करते हुए कहा कि गुजरात के दो बेटों ने अंग्रेजों को भारत से निकाला महात्मा गांधी और सरदार पटेल ने। साथ ही उन्होंने कहा कि कांग्रेस बदले की नहीं, बदलाव की पार्टी है।
इससे पहले राहुल ने मंदिरों के दर्शन का सिलसिला आज पाटन के दलित समुदाय के एक प्रमुख मंदिर जाकर जारी रखा और अपने व्यस्त कार्यक्रम से समय निकाल कर यहां स्थित ऐतिहासिक रानी की वाव (सीढी वाला कुंआ) का भी दौरा किया। अपनी बेजोड स्थापत्य कला के लिए मशहूर रानी की वाव यानी सीढ़ी वाले कुएं के बारे में माना जाता है कि इसे चालुक्य वंश के शासक भीमदेव एक की याद में उनकी प्रिय रानी उदयमती ने 11 वीं सदी में महा गुर्जर स्थापत्य शैली में बनवाया था।

कांग्रेस पार्टी भाजपा पर पैनी नजर बनाए हुए है और एक सोची समझी रणनीति के तहत पार्टी ने आज उम्मीदवारों का ऐलान नहीं किया है. कांग्रेस की गुजरात की चुनाव समिति की बैठक लगभग 45 मिनट तक चली. सोनिया गांधी की अध्यक्षता में लगभग 70 उम्मीदवारों पर मुहर लगी है हालांकि पार्टी को भाजपा की सूची का इंतजार है.

HIMALAYA GAURAV UTTRAKHAND; available in FB, Twitter & whatsup groups etc.

www.himalayauk.org (Leading Digital Newsportal ) publish at Dehradun & Haridwar. Mob. 9412932030; CS JOSHI- EDITOR